tiktok-may-return-to-india-if-microsoft-buys-it

बेहद लोकप्रिय शॉर्ट वीडियो मेकिंग एप Tiktok की भारत में वापसी की थोड़ी संभावना जग गई है। लगभग एक महीने पहले भारत में Tiktok को बैन किया गया था। इसके पीछे का कारण राष्ट्र की सिक्योरिटी को बताया गया था। हाल ही में आई रिपोर्ट के मुताबिक टिकटॉक की पैरंट कंपनी Byte Dance टिकटॉक को बेचनी की तैयारी में है।

Microsoft खरीद सकती है Tiktok को

फाइनेंशियल टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक माइक्रोसॉफ्ट टिकटॉक को खरीदने में इच्छुक है। पहले भी रिपोर्ट आई थी कि माइक्रोसॉफ्ट यूएस, यूके, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में टिकटॉक के ऑपरेशन को खरीदने में इच्छुक है।

नई रिपोर्ट की मानें तो माइक्रोसॉफ्ट टिकटॉक के ग्लोबल ऑपरेशन को खरीद सकती है। ऐसे में भारत में भी टिकटॉक का ऑपरेशन माइक्रोसॉफ्ट के अंडर आ सकता है।

ट्रंप ने दी है चेतावनी

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने टिकटॉक को 45 दिनों का समय दिया है। उनका कहना है कि अगर 45 दिनों में टिकटॉक को किसी नॉन चाइनीस कंपनी को नहीं बेचा जाता है तो अमेरिका में भी टिकटोक को बैन कर दिया जाएगा। ऐसे में टिकटॉक की पैरंट कंपनी बाइट डांस जल्द से जल्द टिकटॉक को बेचने की तैयारी में है।

ये भी पढ़िए : WhatsApp पर आई खबर सच है या झूठ जानने का ये है तरीका

खबरों की माने तो माइक्रोसॉफ्ट बाइट डांस की बातें अभी शुरुआती स्टेज पर है। अभी किसी भी कंपनी के द्वारा इस विषय में कोई स्पष्ट एवं ठोस जानकारी नहीं दी गई है। लेकिन माना यही जा रहा है कि माइक्रोसाफ्ट के द्वारा टिकटॉक को खरीदने की संभावना ज्यादा है।

भारत में कैसे हो सकती है वापसी

जैसे कि आप जानते हैं चीन से चलते विवाद के कारण भारत में चाइनीस सामानों का जमकर विरोध हुआ है। ऐसे में राष्ट्र की सिक्योरिटी को मजबूत करने के लिए भारत में 59 चाइनीस ऐप को बैन किया गया था। ऐसे में अगर टिकटॉक का मालिकाना हक चीनी कंपनी बाइट डांस के अलावा माइक्रोसॉफ्ट को मिल जाता है तो भारत में टिकटॉक के कई मिलियन यूजर एक बार फिर से टिकटॉक का इस्तेमाल कर सकेंगे।

जैसे कि हमने पहले भी बताया टिकटॉक को मैक्रोसॉफ्ट के द्वारा खरीदे जाने वाली बात अभी अर्ली स्टेज में है। ऐसे में केवल अनुमान लगाया जा सकता है कि टिकटॉक को माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा खरीदकर भारत में टिकटॉक का ऑपरेशन फिर से शुरू हो सकता है।

Twitter की भी है टिकटॉक में रुचि

हाल ही में आई खबर के मुताबिक ट्विटर भी टिकटॉक को खरीदने में रुचि रखता है। खबरों की मानें तो ट्विटर टिकटॉक के यूएस ऑपरेशन को खरीदने में इच्छुक है। इस विषय में ट्विटर के द्वारा बात भी हुई है। हालांकि बताया जा रहा है कि टिकटॉक को खरीदने में ज्यादा संभावना माइक्रोसॉफ्ट की ही है।

जैसे कि हमने आपको पहले बताया कि ट्रंप के द्वारा टिकटॉक को मात्र 45 दिनों का समय दिया गया है। रिपोर्ट की मानें तो ट्विटर के पास इतना फंड नहीं है कि वह टिकटॉक के यूएस ऑपरेशन को खरीद सके। इसलिए बताया जा रहा है कि टिकटॉक को खरीदने में सबसे ज्यादा संभावना माइक्रोसॉफ्ट की ही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here