Cam Scanner has been removed from Play Store

जाहिर है अपने स्मार्टफोन में आप काफी सारी एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते होंगे। आज इस आर्टिकल में हम आपको एक ऐसी एप्लीकेशन के विषय में बताने वाले हैं जो हाल ही में सवालों के घेरे में आ गई है। दरअसल, इस एप्लीकेशन की सिक्योरिटी पर अब सवाल उठने लगे हैं। हाल ही में इस एप्लीकेशन को गूगल ने भी अपने प्ले स्टोर से हटा दिया है। ये ऐप काफी फोटो का एक पीडीएफ बनाने के लिए इस्तेमाल की जाती है। हम बात कर रहे हैं बेहद लोकप्रिय एप्लीकेशन Cam Scanner की। इसकी लोकप्रियता बेहद कमाल की है। प्ले स्टोर पर इसे 100 मिलियन से ज्यादा यूजर्स डाउनलोड कर चुके हैं।

ये भी पढ़िए : 6000 mAh बैटरी के साथ लॉन्च होगा Galaxy M30s स्मार्टफोन !

हाल ही में Kaspersky के शोधकर्ताओं ने इस ऐप में एक मैलवेयर ढूंढा है। इस ऐप का लेटेस्ट वर्जन एडवरटाइजिंग लाइब्रेरी के साथ आ रहे हैं। इस नए वर्जन में खतरनाक मॉड्यूल होने की बात कही गई है। दरअसल, शोधकर्ताओं ने इस खतरनाक ट्रोजन-ड्रॉपर मॉड्यूल की पहचान “Trojan-Dropper.AndroidOS.Necro.n” नाम से की है। इस ऐप के अलावा भी काफी सारी चीनी ऐप में ये पाया गया है। जिसके बात इस ऐप को लेकर काफी सवाल उठने लगे।

दरअसल, उस मैलवेयर से यूजर्स की सिक्योरिटी को काफी खतरा है। यह मॉड्यूल एक्सट्रैक हो जाता है जिसके बात ऐप के रिसोर्स में एन्क्रिप्टेड फ़ाइल से अन्य खतरनाक मॉड्यूल को चलाता है। जैसे ही Kaspersky के शोधकर्ताओं ने इस ऐप में एडवरटाइजिंग ड्रॉपर को पाया तो तुरंत उसकी शिकायत की। हालांकि, ये ड्रॉपर नए वर्जन में पाया गया है। शायद आपके ऐप के वर्ज़न में भी ही। ऐसे में बेहतर होगा इस तरह की ऐप को स्मार्टफोन में ना रहने दिया जाए। यहां तक कि गूगल ने भी इस लोकप्रिय एवं 100 मिलियन से ज्यादा बार डाउनलोड की जा चुकी ऐप को हटा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here